DM का निर्देश,अधिकारियों का ठेंगाः चींटी की चाल में राजस्व का कामकाज, कई फाइलें गायब, दर-दर भटक रहे लोग, 700 से अधिक आवेदन लंबित, आराम फरमा रहे जिम्मेदार… – HindiBrain Hindi news, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar

रोहित कश्यप, मुंगेली। जिला मुख्यालय के तहसील कार्यालय में टोल कलेक्टर का काम करने वाले किसानों से लेकर खराब व्यवस्था से आम लोग खासे परेशान हैं. यह बात हम नहीं बल्कि यूथ कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कलेक्टर को लिखित शिकायत में कही।

दरअसल, यूथ कांग्रेस के जिला महासचिव अजय साहू व परिषद उपाध्यक्ष मुंगेली साहिल खान के नेतृत्व में बड़ी संख्या में युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने इस मुद्दे को कलेक्टर राहुल देव को याद कर व्यवस्था दुरुस्त करने की गुहार लगाई है. साथ ही व्यवस्था सही नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

शिकायतकर्ताओं का कहना है कि मुंगेली तहसील में आमजन, शिकायतकर्ता और किसान भटकते नजर आ रहे हैं, डायवर्सन, सीमांकन, जोनिंग के लंबित मामलों में मुकदमे लंबित हैं, यहां तक ​​कि अलग-अलग आय, जाति और निवास जैसे कई मामले हैं. सबसे ज्यादा मामले मुंगेली तहसील के हैं। जहां 700 से ज्यादा आवेदन पेंडिंग हैं। यही कारण है कि तहसील के अधिकारियों और कर्मचारियों के लापरवाही से काम करने वाले रवैये से जनता काफी नाराज है.

सफाई कर्मियों व कोटवार पर निर्भर हैं तहसील कार्यालय?

शिकायत करते हुए कांग्रेसियों ने मीडिया चैट में कहा कि काउंटी मुख्यालय स्थित तहसील कार्यालय में सिस्टम फेल हो गया. अगर ऐसा है तो यहां कार्यालय भगवान के भरोसे ही चलाया जा रहा है। यहां सिर्फ एक कर्मचारी तैनात है। बाकी सफाईकर्मी व कोटवार तहसील कार्यालय चला रहे हैं, जिन्हें लगातार रहवासियों व किसानों के व्यवहार की शिकायतें मिल रही हैं.

नई जिम्मेदारी लेकिन पुराना रवैया

कलेक्टर मुंगेली राहुल देव ने जिलाधिकारी का पदभार ग्रहण कर मुंगेली तहसील का निरीक्षण कर कई कर्मचारियों को यहां से वहां जाने के निर्देश दिए और नई जिम्मेदारी सौंपी. फिर एक नई जिम्मेदारी भी दी जाती है, जिम्मेदारी नई हो सकती है लेकिन रवैया पुराना हो गया है। शिकायत के मुताबिक, जब कई शिकायतकर्ता अपने मामलों की पूछताछ करने आए तो किरायेदार कर्मचारियों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। शिकायतकर्ताओं का यह भी आरोप है कि कार्यालय से कई मामलों के रिकॉर्ड गायब हैं. साथ ही मामले में जारी किए गए मेमो, विज्ञापन और नोटिस की जानकारी ट्रायल की तारीख तक नहीं पहुंच पाती है, इसी वजह से ट्रायल की तारीख और लंबित मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं.

कलेक्टर का कहना है कि दोषी को होगी सजा

हालांकि इस पूरे मामले में कलेक्टर राहुल देव ने कहा है कि किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि युवा कांग्रेस कार्यालय के प्रभारियों से लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों की जानकारी मांगी गई है. साथ ही उन्होंने कहा कि मुखिया की ओर से स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि राजस्व से संबंधित सभी मामलों में विशेष ध्यान दिया जाए, सामान्यत: उलझने नहीं दिया जाए. कलेक्टर ने कहा कि, शिकायत आई है, उस मामले में स्पष्ट जानकारी मांगी गई है. जिम्मेदारों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जा सकती है।

खजांची के निर्देशों पर ध्यान न दें

हाल ही में कलेक्टरों के सम्मेलन के दौरान मंत्री भूपेश बघेल ने कलेक्टरों को आगे बढ़ने के सख्त निर्देश दिए. इधर जिला कलेक्टर राहुल ने स्टूडियो अधिकारी से लेकर तहसीलदारों को राजस्व मामले में तेजी लाने, समस्या का शीघ्र समाधान करने के निर्देश दिए. फिर भी मुंगेली जिला मुख्यालय स्थित तहसील कार्यालय जिस तरह से खराब व्यवस्था की शिकायत करता है, उसे देखते हुए कलेक्टरों को तत्काल संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए.

Leave a Comment