हर बार लड़का नहीं, लड़की भी होती है गलतः युवक ने सुसाइड से पहले सोशल मीडिया पर Live Telecast कर पुल से नदी में लगा दी छलांग, सुसाइड नोट में गर्लफ्रेंड पर लगाए गंभीर आरोप

शब्बीर अहमद, भोपाल। “लड़का नहीं हर बार लड़की गलत होती है…उसने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी… मैं उससे नाराज होकर अपनी जान कुर्बान कर रहा हूं।” उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए……” ये शब्द एक ऐसे युवक के हैं जो अब इस दुनिया में नहीं रहता। आत्महत्या करने से पहले युवक ने कई गंभीर आरोप लगाए जब उसकी प्रेमिका ने सोशल नेटवर्क पर उसका सीधा प्रसारण किया। फिर पुल से नदी में कूदो। युवक की नदी में डूबने से मौत हो गई। बांध से कूदने से पहले उसने एक वीडियो बनाकर अपनी मां को भेज दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से बांध में ऋषभ की तलाशी ली. शुक्रवार को युवक का शव मिला। पूरी समस्या राजधानी भोपाल के कमलानगर थाना क्षेत्र की है।

हत्या का रिश्ता : भाई ने बहन की गोली मारकर हत्या कर दी, बंटवारे को लेकर भाई-बहन में हुआ था विवाद

भोपाल के भोपाल में भादभड़ा पुल से कूदकर युवक ने आत्महत्या कर ली. युवक का नाम ऋषभ वर्मा (21 वर्ष) है। आत्महत्या करने से पहले युवक ने सीधे पुल पर सोशल मीडिया का सहारा लिया और अपनी प्रेमिका पर कई आरोप लगाए. युवक ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि हर बार लड़का नहीं, लड़की गलत होती है। वह मुझसे पैसे मांगती थी। साथ ही काम कराने का दबाव भी रहता है। दूसरे लोगों से दोस्ती करने के बाद भी वह मुझे परेशान कर रही है। उसने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी। शक के भाई ने मुझे धमकी भी दी थी। वह मेरी मौत के लिए जिम्मेदार है। मैं इसके लिए अपना जीवन समर्पित कर रहा हूं। उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

कबड्डी स्टेडियम बना जंग का मैदान

बुधवार को आत्महत्या

दरअसल, ऋषभ की मौत रतीबाद के विशाल नगर में रहकर हुई थी। बांध से कूदने से पहले उसने एक वीडियो बनाकर अपनी मां को भेज दिया। परिजनों ने बुधवार को गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने एसडीआरएफ की मदद से बांध में ऋषभ की तलाशी ली. दो दिन की मशक्कत के बाद शुक्रवार को बालक भादभदा में मिला।

VIDEO: नेशनल असेंबली के इस नेता ने माचिस जलाकर केरोसिन डालकर खुद को लगाई आग, एक घंटे तक चला आत्मदाह का ड्रामा

एक युवक की मौत का सुसाइड नोट

मैं ऋषभ वर्मा अपने होशो-हवास में बयान लिख रहा हूं कि इस लड़की ने मुझे बहुत परेशान कर रखा है। इस वजह से मैं अपनी जान दे रहा हूं। मेरे पिता का नाम विजय वर्मा और मां का नाम रजनी वर्मा है। मेरे दो छोटे भाई हैं- एक का नाम यश वर्मा है। इसे भी इस लड़की ने बहुत परेशान कर रखा है। सबसे छोटे भाई का नाम तन्मय वर्मा है। भाई देख मेरी जान देने का सबसे बड़ा कारण यही लड़की है। अगर मुझे कुछ भी होता है, तो उसका नाम लेना। उसने तेरे भाई की जिंदगी बर्बाद कर दी। अरेरा कॉलोनी में उसका घर है। वो माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी में पढ़ती है। उसने पिछले 4 साल और 8 महीने से मेरी जिंदगी बर्बाद कर रखी है। वो मुझे दबाकर रखती है। तुम सबने देखा है कि मैं कैसा था और कैसा हो गया हूं। उसने मुझसे शादी करने का कहा था और मेरे घर भी आई थी। उसका भाई मुझे धमकी भी देता है। मेरी मौत की जिम्मेदार वहीं है, वो मुझसे पैसे लेती रहती थी। नहीं देने पर वो मुझे मारती थी। वो मुझे डराती थी, धमकी भी देती थी, फिर उसने नए दोस्तों के लिए मुझे छोड़ दिया। मेरे साथ उसके संबंध थे। जिसकी तस्वीर मैं तुम्हे भेज रहा हूं। ये लड़की ऐसे ही सबको चलाती है। वो कहती है कि अपनी खुशी के लिए वो मुझे मार देगी। वो मुझसे सही बर्ताव नहीं कर रही है। मैंने पूछा था कि कोई गलती हुई है तो बता दो। उसका नया बॉयफ्रेंड भी बन गया है ऑफिस या कॉलेज में, फिर भी वो मुझे परेशान कर रही है। इस लड़की की वजह से मेरे 4 साल 8 महीने बेकार हो चुके हैं। मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर सकता। उसे बाइक पर घूमना पसंद था तो उसने मुझे जबरदस्ती बाइक खरीदने को कहा। वह नशा भी करती है। वो चरस, गांजा, शराब और सिगरेट पीती है। मैं उससे परेशान होकर अपनी जान दे रहा हूं। उसे कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए।

मैं तुझसे प्यार करता था,करता हूं पर। ये लड़की मुझे दबाकर रखती थी। हमेशा लड़का ही गलत नहीं होता है। हमेशा हर लड़का ही धोखा नहीं देता है। लड़कियां भी धोखा देती है। मेरे भाई मत करना ये मोहब्बत


आई मिस यू मम्मी पापा यश तन्मय चैतन्य चाचा चाची दादा दादी बुआ फूफा जी नानी मामा मामी लोग। मौसी मौसाजी पिहु दुगु बेबो उगो बड़े मामा का दोनो बच्चे मेरे। सारे बड़े, छोटे भाई मेरे जान लोग (प्रांशु चाचा, सुरेश भैया, सूरज भैया, नरेंद्र भैया, बंटी भैया, नितेश भैया, लोकेश भैया, रिंकू भैया, कपिल भैया, सौरभ नागरानी, ​​अभिनव, राहुल शर्मा, शनि, अण, चेतन, अयोध्या  चिंटू, विशाल, अर्जुन, याशु, निक्की, निपेंद्र, दर्शु, सचिन सुका, सौरभ, गौरव, दीपक साहू, विजय, राहुल, सचिन कांचा, हर्षित, और सभी स्कूल के दोस्त या सब मारे जान हा बाकी जिस को याद करते हैं बोल ना रह  गया हो। ओस को सॉरी अब जरा हा तुम सब का प्यारा....


     ऋषभ ऋषि वर्मा 





             आई मिस यू
कृपया.......
  इसे मीडिया में चलवा देना 🙏🏻
 हर लड़का धोखेबाज नहीं होता है,लड़की भी धोखा देती है। मेरे भाईयों-मेरी बहनो हमशा लड़कों को गलत मत समझ करो। 

ट्रेन में लेबर में: चलती ट्रेन के दौरान महिला को अचानक प्रसव पीड़ा, कुत्ते के अंदर दिया अपने बेटे को जन्म, आरपीएफ-जीआरपी की महिला टीम ने सर्किल साड़ियां बनाकर दी डिलीवरी

और पढ़ें- जीका वायरस स्टॉक की जांच के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने केरल में विशेषज्ञों की एक टीम तैनात की

Leave a Comment